X Close
X
7080804000

प्रतापगढ़ की पुलिस हुई नाकाम एस टी एफ ने मुठभेड़ में मार गिराया , एक लाख का इनामी शातिर बदमाश 


ancounter-final?resize=869%2C493
Lucknow:प्रतापगढ में सोती रही पुलिस और एस टी एफ ने मार गिराया एक लाख का इनमिया शातिर बदमाश। एसटीएफ के रडार पर आया शातिर तो प्रतापगढ़ में हुआ ढेर। एस टी एफ से मुठभेड़ में अपराध का पर्याय बना शातिर तौकीर हुआ ढेर। भुलियापुर का रहने वाला था तौकीर। धीरज कुमार , रीडर टाइम्स प्रतापगढ़ : आधा दर्जन हत्याओं के साथ ही व्यापारियो से रंगदारी और बैंक लूट सहित दर्जनों वारदातों को अंजाम देने वाले शातिर का पुलिस कर रही थी तलाश । साल भर से प्रतापगढ़ पुलिस के लिये सरदर्द बना था तौकीर। एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने संभाली ऑपरेशन की कमान तो हुआ ढेर। बंदी रक्षक, ग्राम प्रधान और मार्बल व्यापारी की दिनदहाड़े की थी हत्या। गोली लगने से घायल तौकीर को अस्पताल में कराया गया भर्ती। डॉक्टरों ने घोषित किया मृत। साथी बदमाश अंधेरे में भागने में हुआ कामयाब। दो पिस्टल, कारतूस, कार्बाइन, मोबाइल और बाइक बरामद। रात साढ़े तीन बजे ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्राया इलाका । नगर कोतवाली इलाके के चिलबिला कोट के पास हुई मुठभेड़ । सूत्रो के अनुसार मिली जानकारी में बताया की शातिर बदमाश तौकीर ईद मनाने अपने घर आया था। मुखबिर से मिली जानकारी पर एस टी एफ ने तौकीर को उसी के घर से उठाया और रात में 3 बजे चिलबिला कोट ले जाकर एस टी एफ ने उसका फर्जी मुठभेड़ दिखा कर उसका एंकाउंटर कर मार गिराया। प्रतापगढ़ पुलिस ने अपनी पीठ थपथपाई जोकि प्रतापगढ़ पुलिस को शर्म आनी चाहिए। प्रतापगढ़ में कोई भी शातिर बदमाश का एंकाउंटर या गिरफ्तारी होती है तो एस टी एफ करती हैं और प्रतापगढ पुलिस एसी में चैन की नींद सोती है । प्रतापगढ़ की कानून व्यवस्था एस टी एफ के भरोसे चल रही हैं।