X Close
X
7080804000

निजी कार पर नीली बत्ती लगा कर ; पुलिस पर झाड़ रहा था रौब – पूछताछ में पुलिस ने दिखया अपना रौब ,


issues-crime-cuffs-300x195
Lucknow: डेस्क रीडर टाइम्स न्यूज़ लखनऊ में अपनी निजी कार पर नीली बत्ती लगाकर घूम रहे एनजीओ संचालक और उसके ड्राइवर को बुधवार शाम को गाजीपुर पुलिस ने मुंशी पुलिया के पास रोक लिया। नीली बत्ती के बारे में पूछने पर पीछे बैठे एनजीओ संचालक ने खुद को आईपीएस बताकर सिपाहियों को फटकारा। उन्हें रौब में ले लिया, इस बीच ही इंस्पेक्टर मनोज मिश्र वहां पहुंच गये। उन्होंने कुछ देर में ही उसका फर्जीवाड़ा सामने ला दिया। पुलिस ने फर्जी आईपीएस और उसके ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया। बत्ती बेचने वाला दुकानदार भी हिरासत में ले लिया गया है। इंस्पेक्टर गाजीपुर ने बताया कि गिरफ्तार एनजीओ संचालक प्रांशुल यादव साउथ सिटी कालोनी का रहने वाला है। उसका ड्राइवर जावेद आलम भी पकड़ा गया है। प्रांशुल लाल बादशाह फाउण्डेशन के तहत रक्तदान शिविर लगाता है। प्रांशुल ने बताया कि वह अक्सर नीली बत्ती लगाकर कार से चलता है। इससे उसे चेकिंग में रोका नहीं जाता है। दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। फर्जी आईडी पर बेची नीली बत्ती इंस्पेक्टर के मुताबिक प्रांशुल ने बताया कि उसने लालबाग में फायर स्टेशन के सामने मोड़ पर स्थित दुकान से नीली बत्ती खरीदी थी। इस दुकान में उसने फर्जी आईडी दिखाकर बत्ती ली थी। इस पर पुलिस ने शाम को इस दुकानदार को हिरासत में ले लिया। उससे देर रात तक पूछताछ की जा रही थी। दावा किया जा रहा है कि इस दुकान पर कई लोगों को बिना आईडी के भी नीली बत्ती बेची जा चुकी है। इस बात की भी जांच की जा रही है।